महाराष्ट्र सरकार ने उद्धव ठाकरे सहित उनके पुत्र आदित्य की सुरक्षा बढ़ाई

खोज न्यूज़ टुडे/मुंबई :- महाराष्ट्र सरकार ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे की सुरक्षा बढ़ाने का फैसला किया है. राज्य खुफिया विभाग से मिली जानकारी के बाद गृह विभाग ने सुरक्षा बढ़ाने का फैसला किया.

ठाकरे के परिवार की सुरक्षा के बारे में गृह विभाग को खुफिया विभाग ने रिपोर्ट दी है. हालांकि, रिपोर्ट प्राप्त करने के तुरंत बाद, राज्य सरकार ने दोनों की सुरक्षा बढ़ा दी है. उद्धव की सुरक्षा अब जेड प्लस और आदित्य ठाकरे की सुरक्षा वाई प्लस कर दी गई है.

उल्ल्र्खनीय है कि जनवरी माह में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ठाकरे को पार्टी का नेता बनाया गया है.

नये पद के साथ जूनियर ठाकरे अब पार्टी की कोर टीम का हिस्सा होंगे. वो पहले ही युवा सेना का नेतृत्व कर रहे थे. राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शिवसेना ने चुनाव आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुसार पार्टी अध्यक्ष और अन्य पदाधिकारियों को निर्वाचित करने के लिये आंतरिक चुनाव कराए. ये चुनाव पार्टी संस्थापक बाल ठाकरे की जयंती पर कराए गए.

शिवसेना के वरिष्ठता क्रम में ‘नेता’ और ‘उपनेता’ का पद पार्टी अध्यक्ष के पद के बाद आता है.

अपने पुत्र को पदोन्नत करने को लेकर होने वाली आलोचना को पहले ही रोकने की कोशिश करते हुए उद्धव ने कहा कि बाल ठाकरे ने ‘‘पारिवारिक राजनीति और लोगों के लिये काम करने की पारिवारिक परंपरा के बीच भेद को स्पष्ट किया था’’ उद्धव ने कहा कि उनके परिवार का कोई भी लोगों के भरोसे को नहीं तोड़ेगा और लोगों के कल्याण के लिये काम करते रहेंगे.

आदित्य के अलावा राज्य मंत्री एकनाथ शिंदे, केंद्रीय मंत्री अनंत गीते और लोकसभा सदस्य–चंद्रकांत खैरे और आनंदराव अडसुल को ‘नेता’ बनाया गया. शिवसेना में अब 13 ‘नेता’ होंगे. इनमें से पांच नये हैं. दिवाकर रावते, सुभाष देसाई और राज्यसभा सदस्य संजय राउत वे प्रमुख नाम हैं जो पार्टी में ‘नेता’ के पद पर हैं. विट्ठलराव गायकवाड और रघुनाथ कुचिक को नया ‘उपनेता’ चुना गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *