अयोध्या विवाद के 25 साल, क़ानून किसी को हाथ में लेने का अधिकार नहीं

खोज न्यूज़ टुडे/लखनऊ :- यूपी में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार बनने के बाद से ही राम की नगरी अयोध्या लगातार सुर्खियों में है. विवादित राम जन्म भूमि को लेकर एक तरफ जहां सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी है, वहीं दूसरी ओर बाबरी ढांचा गिराए जाने की 25वीं बरसी के मद्देनजर प्रशासन ने हाई अलर्ट पर है. 6 दिसम्बर के मौके पर प्रदेश भर में एलर्ट जारी किया गया है.

केंद्रीय गृह मंत्रालय से जारी हुई एडवाइज़री के बाद सरकार ने प्रदेश भर में सतर्कता बरतने के निर्देश जारी किये हैं. एक तरह जहां मंगलवार से सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई है. तो वही दूसरी तरफ बाबरी मस्जिद ढांचा गिराए जाने की बरसी के मद्देनज़र प्रदेश भर में हाई एलर्ट जारी किया गया है, इस मौके योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने कहा की किसी को भी क़ानून को हाथ में लेने की इजाज़त नहीं है. उन्होंने कहा कि किसी की भावना को भी ठेस नहीं पहुंचने दी जायेगी.

बाबरी मस्जिद गिराए जाने की 25वीं बरसी पर प्रदेश भर में हाई एलर्ट जारी किया गया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय से जारी हुई एडवाइज़री के बाद यूपी सरकार ने प्रदेश भर सतर्कता बरतने के निर्देश दिए. डीजीपी मुख्यालय ने फैज़ाबाद के अलावा संवेदनशील ज़िलों में ख़ास सतर्कता बरतने को कहा गया है. डीजीपी सुलखान सिंह ने प्रदेश भर में अफसरों को ख़ास हिदायत दी है की किसी भी क़ीमत कोई नई परम्परा शुरू नहीं होना चाहिए. साथ ही हर छोड़ी बड़ी घटना पर अफसरों को बारीकी से निगाह रखने को कहा है. इस के अलावा फैज़ाबाद में ख़ास तौर से शरारती तत्त्वों पर निगाह रखे के निर्देश जारी हुए है.

प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री व प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने इस मौके पर कहा है, कि किसी को भी किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का अधिकार नहीं है. अफसरों को क़ानून व्यवस्था बनाये रखने के निर्देश जारी किए गए हैं. उन्हों ने कहा कि सरकार निष्पक्ष हो कर किसी को भी क़ानून को हाथ में नहीं लेने देगी. किसी नए आयोजन पर किए गए सवाल का श्रीकांत शर्मा ने कोई जवाब नहीं दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *