गुजरात राज्यसभा चुनाव: रोकी गई वोटों की गिनती

अहमदाबाद :- गुजरात में आज हुए राज्य सभा की 3 सीटों के लिए मतदान के बाद मतगणना का काम रोक दिया गया है. दो कांग्रेस विधायकों द्वारा अपना वैलेट पेपर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और बीजेपी ले प्रिसाइडिंग ऑफिसर को दिखाने के मामले को चुनाव आयोग लेकर पहुंची कांग्रेस ने मांग की है कि इन विधायकों के वोट रद्द किये जाएं .

चुनाव आयोग के फैसले के बाद ही वोटों की गिनती शुरू की जाएगी

चुनाव आयोग मतदान का वीडियो देखकर तय करेगा कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को वैलेट पेपर दिखाने वाले दोनों कांग्रेस विधायकों के वोट रद्द किये जाएं अथवा नहीं. चुनाव आयोग के फैसले के बाद ही वोटों की गिनती शुरू की जाएगी.
इस मामले को लेकर दिल्ली में चुनाव आयोग पहुंचे कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह और रणदीप सुरजेवाला ने चुनाव आयोग से कांग्रेस विधायकों द्वारा वैलेट पेपर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को दिखाए जाने की शिकायत की और विधायकों के मतों को निरस्त करने की मांग की.

जनता दल यूनाइटेड एमएलए छोटू भाई वसावा ने पार्टी की व्हिप के खिलाफ कांग्रेस उम्मीदवार अहमद पटेल को वोट दिया. हांलाकि जदयू नेता केसी त्यागी ने दावा किया था कि उनकी पार्टी के विधायक ने बीजेपी को वोट दिया है.

इस बीच कांग्रेस नेता शक्तिसिंह गोहिल ने कहा है कि कांग्रेस के दोनों विधायकों ने अपने बैलेट पेपर अमित शाह को दिखाए. यानी उन्होेंने अमित शाह को दिखाकर वोट किए. गोहिल ने दावा किया कि अगर कोई वोटर दूसरी पार्टी के एजेंट को अपना बैलेट पेपर दिखाता है तो उसका वोट रद्द हो जाता है.
केसी त्यागी ने कहा कि नीतीश कुमार के निर्देश पर छोटू वसावा ने बीजेपी को वोट दिया है लेकिन विधायक छोटू वसावा ने मीडिया में साफ़ कहा कि वोट उन्होंने डाला है केसी त्यागी ने नहीं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *