कश्मीर में आतंकी हमले को देखते हुए यू.पी समेत देश कई राज्यों में हाई अलर्ट

(KNT)- कश्मीर के अनंतनाग में हुए अमरनाथ यात्रियो पर आतंकी हमले को देखते हुए यू.पी समेत देश के कई राज्यो में हाई अलर्ट जारी किया गया है
यूपी पुलिस के एडीजी (लॉ एंड आर्डर) आनंद कुमार ने सभी जिलों के एसपी को कांवड़ यात्रा के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम के निर्देश दिए हैं. अमरनाथ यात्रियों पर हमले के मद्देनजर यूपी में होने वाली कांवड़ यात्रा पर आतंकी हमले की आशंका बढ़ गई है. कुछ दिन पहले ही खुफिया एजेंसियों ने कांवड़ यात्रा को लेकर अलर्ट जारी किया था
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांवड़ यात्रा के मद्देनजर सभी जिलों के एसपी को सुरक्षा के निर्देश दिए गए हैं. डीजीपी और प्रमुख सचिव इस पर कड़ी नजर रखेंगे. श्रद्धालु सुबह 6 से रात 10 बजे तक लाउडस्पीकर इस्तेमाल कर सकते हैं. पुलिस उन्हें नहीं रोकेगी. कांवड़ समिति प्रशासन से अनुमति लेनी होगी. श्रद्धालु को अपने पास आईडीप्रूफ रखना होगा.दिल्ली से हरिद्वार के बीच होने वाली कांवड़ यात्रा की सुरक्षा के इंतजाम का जाय. इस दौरान पुलिस मुस्तैद नजर आई है. रास्ते में मिले कांवड़ियों ने बताया कि वे फरीदाबाद से आ रहे हैं. उन्हें हर जगह पुलिस मिली है. सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है. इसलिए उन्हें किसी भी जगह खतरे का एहसास नहीं हुआ.
आप को बताते चले कि खुफिया एजेंसियों के अलर्ट के मद्देनजर बुलंदशहर के एसएसपी मुनिराज सिंह ने सादे कपड़ों में साइकिल से सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया था. इस दौरान एसएसपी ने लापरवाह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया. उन्होंने कई किलोमीटर तक सुरक्षा जायजा लिया. इस दौरान डायल 100 के पुलिसकर्मी उनको पहचान नहीं पाए.
एसपी ने देखा कि पुलिसकर्मी ड्यूटी के दौरान अखबार पढ़ने में मशगूल थे. एसएसपी ने जब उनकी फोटो खींचना चाहा तो वह उनके साथ अभद्रता करने लगे. एसएसपी ने फौरन तीनों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया. इसके बाद एसएसपी गुलावठी थाने पर 45 मिनट तक घूमते रहे. इस दौरान उन्हें पूरे थाने को खाली पाया.
खुफिया अलर्ट के मुताबिक, कांवड़ यात्रा के दौरान आतंकी हमला कर सकते हैं. आतंकी भगवा वेश में यात्रा में शामिल होकर किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं. आतंकी ट्रक या बस जैसी बड़ी गाड़ी को यात्रियों की भीड़ पर चढ़ा सकते हैं. इसके बाद असामाजिक तत्वों पर नजर रखने और ड्रोन, सीसीटीवी से निगरानी के निर्देश दिए गए हैं.
हर साल सावन महीने में कांवड़ यात्रा की जाती है. लाखों की तादाद में कांवड़िये पैदल जाकर पवित्र गंगाजल अपने घर लाते हैं. गंगाजल से घर के पास स्थित शिव मंदिर में शिवलिंग का अभिषेक किया जाता है. दिल्ली, यूपी और आसपास के राज्यों में रहने वाले लोग हरिद्वार से गंगाजल लेकर आते हैं. बिहार और पूर्वांचल के लोग सुल्तानगंज जाते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *